ग़ुलामाबाद

वो पल का नज़ारा हमेशा याद रहेगा |
ग़ुलाम, ज़माना हमेशा तेरे बाद रहेगा |

अच्छा ही हुआ की आँखें सलामत रही,
तेरे दर्शन से दिल हमेशा आबाद रहेगा |

तूने जो जलायी है अमन की लौ दिल में,
अब मुझे भी सब से हमेशा विदाद रहेगा |

जो तूने बनायीं है जगह इस तरह दिल में,
उस जगह का नाम ग़ुलामाबाद रहेगा |

2 thoughts on “ग़ुलामाबाद

Leave a Reply