और भी है अभी

वो खो गए तो क्या हुआ, रास्ते और भी है अभी |
वो बिछड़ गए तो क्या हुआ, वास्ते और भी है अभी |

खुश रहे, जहाँ भी वो रहे सदा,
पुकारता है दिल उन्हें दे-दे के सदा |

घूम के आएगी याद हमारी उन्हें भी कभी,
कारवां और भी है, बहारें और भी है अभी |

वो नहीं तो क्या ? उनकी याद तो है,
उनके सर हमारी मोहब्बत का इल्जाम तो है |

तो क्या जो साथ न दिया अजब का कभी,
रास्ते और भी है, हमसफ़र और भी है अभी |

 

2 thoughts on “और भी है अभी

Leave a Reply