निर्मम

कुछ आंसूं जो बहे नहीं | कुछ दर्द जो कहें नहीं | सुनाते है कहानी, कहानी बड़ी है निर्मम | अगर दिल में धड़कन बाकी है तो सुनना | अगर इंसानियत में लगन बाकी है तो सुनना | अगर थोड़ी मजाल बाकी है तो सुनना | कहानी बड़ी है निर्मम, अगर कुछ सवाल बाकी है … Continue reading निर्मम