ख़ाली

ख़ाली जाम, ख़ाली प्याला, ख़ाली खयाल ।
एक बूंद भी नहीं मैखाने आज,

इतना छोटा जीवन, इतना लम्बा अंतराल ।
कुछ नहीं, सिर्फ़ एक मायाजाल |

इतना छोटा जीवन, इतना लम्बा अंतराल ।
कुछ नहीं, सिर्फ़ एक मायाजाल |

अब संगीत में भी खालीपन है |
ख़ाली बोल, ख़ाली धुन, ख़ाली सुर-ताल

सब रोनक चली गयी और ख़ाली है जलाल |
ख़ाली दुनिया, ख़ाली लोग, ख़ाली का यह कमाल |

2 thoughts on “ख़ाली

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s