आतंक

terrorism

काली, बेहाल, ज़िहाल है आतंक |
क़यामत का यह हाल है आतंक |
कोई रंजिश, कोई मलाल है आतंक |
कितना कमीना कमाल है आतंक |

ज़िंदा मुर्दों की लाश है आतंक |
कोई दरिंदे का काश है आतंक |
एक अंधी सी तलाश है आतंक |
इंसानियत का सर्वनाश है आतंक |

Thank you very much!

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s