ये ज़मीन कितनी भूखी है

कितना बड़ा ज़ख्म दिया गहरा |
ये ज़मीन खा गयी यार मेरा |

वक़्त की कितनी बद्सलुखी है |
ये ज़मीन कितनी भूखी है |

ना जाने कितने थे वो कलंदर,
सबको ले लिया अपने सीने के अंदर |

इसकी अदा कितनी रूखी है |
ये ज़मीन कितनी भूखी है |

अब नाजाने किसकी बारी होगी ?
जाने किसपे ये घड़ी भारी होगी ?

रो-रो अब मेरी आँख सुखी है |
ये ज़मीन कितनी भूखी है |

 

2 thoughts on “ये ज़मीन कितनी भूखी है

Thank you very much!

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s