प्यार हो जाएगा

खेलो ना दिल से मेरे, शीशा है टूट जाएगा |
इतने प्यार से ना देखो मुझे, प्यार हो जाएगा |

चलते-चलते राह में वो मिल गया, अच्छा लगा |
रुख़्सार पे उसकी परेशानी थी पर सच्चा लगा |

उसने मुझे जाना, मैंने उसे,
हाँ, शायद वही थी सोचा था जिसे |

फिर किस्मत ने वफ़ा दिखाई !
एक बिजली हम दोनों के दरमियान आयी |

सिलसिले शुरू हुए,
मैंने अपनी मोहब्बत आज़मायी,
पर बेक़द्रों से दोस्ती रंग ना लायी |
वफ़ा तो क्या, उनकी बेवफाई भी ना पायी |

आज मैकदे में, मय नहीं, पर जाम तो है |
उनके सर पर मेरे प्यार का इलज़ाम तो है |

जब-जब याद करेंगे लोग प्यार की कहानी,
उनके नाम से हमारा नाम जोड़ा जायेगा |
इतने प्यार से ना देखो मुझे, प्यार हो जायेगा |

 

10 thoughts on “प्यार हो जाएगा

  1. खेलो ना दिल से मेरे, शीशा है टूट जाएगा |
    इतने प्यार से ना देखो मुझे, प्यार हो जाएगा |
    waah….kya khub likha…..bahut khub.

    Like

Thank you very much!

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s