नज़र दूर तक जाती है

नज़र दूर तक जाती है,
फिर भी लगता है के कुछ बाकी है |
सैर-ए-गुलशन तो किये बहुत,
अभी सारी कायनात बाकी है |

मैं कुछ भूला नहीं,
दिल पे उल्फत का निशान अभी बाकी है |
अभी तो सिर्फ तूफ़ान आया है दोस्त,
क़यामत तो अभी बाकी है |

एक सितम और सही,
अभी कुछ साँसें बाकी है |
फुर्सत से लेंगे सिला बेवफाई का,
दिल से रूह का रिश्ता अभी बाकी है |

बोहोत पाया मैंने यार अजब,
पर अभी कुछ चाहत बाकी है |
समुंदर तो बहुत पी लिए मैंने,
पर एक बूँद की प्यास बाकी है |

Thank you very much!

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s