मुझे माफ़ करना माँ

तूने लाख समझाया पर मैं गांधीवादी बन गया |
मुझे माफ़ करना माँ, मैं आतंकवादी बन गया |

मुझे लोग कहते है दुश्मनी का दुश्मन,
अधर्म ज़माने में, मैं धर्मवादी बन गया |
मुझे माफ़ करना माँ, मैं आतंकवादी बन गया |

नफरत है लोगों को मेरे पाक इरादों से,
इस भ्रष्ट समाज में समाजवादी बन गया |
मुझे माफ़ करना माँ, मैं आतंकवादी बन गया |

सब जगह कांटे ही कांटे बो दिए मेरे यारों ने,
आज उजड़े चमन में, फूलों की वादी बन गया |
मुझे माफ़ करना माँ, मैं आतंकवादी बन गया |

सर झुकना मुझे नहीं है मंज़ूर, यार अजब,
इन ग़ुलामों के बीच मैं आज़ादी बन गया |
मुझे माफ़ करना माँ, मैं आतंकवादी बन गया

आज अशांत युग को सिर्फ अमन ही से है खतरा,
इसलिए मैं खून से लिपटी खादी बन गया |
मुझे माफ़ करना माँ, मैं आतंकवादी बन गया |

 

Thank you very much!

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s