झूठा ख़ुदा

universe

झूठा ख़ुदा बने रहने में बुरा क्या है ?
ख़ुदा से जुदा बने रहने में बुरा क्या है ?

सारी दुनिया सजदे कर रही झूठी-मूठी,
थोड़ा बेहुदा बने रहने में बुरा क्या है ?

मिल रहे है हर एक को रोज़-रोज़ जलवे अजब,
थोड़ा गुमशुदा बने रहने में बुरा क्या है ?

वैसे भी लोग ढूंढ ही रहे है नालों में अमृत
प्रेमसुधा बने रहने में बुरा क्या है ?

Thank you very much!

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s