जे रब्बा इश्क़ ना होए

क्या मज़ा जीने में ओये ?
जे रब्बा इश्क़ ना होए |

कौन तैरे, कौन डुबोये ?
जे रब्बा इश्क़ ना होए |

ना कोई जागे सारी रात,
ना कोई दिन को सोये |
जे रब्बा इश्क़ ना होए |

कैसे दिल में आग लगे ?
कैसे मीठे तीर चुभोए ?
जे रब्बा इश्क़ ना होए |

क्या कोई सपने पिरोये ?
जे रब्बा इश्क़ ना होए |

One thought on “जे रब्बा इश्क़ ना होए

Thank you very much!

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s