बनाया तूने

अंगूर तूने बनाये, शराब बनाया तूने,
मैं शेख था, ख़राब बनाया तूने |

रास ना आयी तुझे जहान की रीत,
पहले सुकून था, इज़्तराब बनाया तूने |

तुझे शायद खुदा ने ख़ुदा बना दिया,
मैं जी रहा था, सैलाब बनाया तूने |

खुद तो आया ही नहीं पीने तुझे,
शराब पी रहा था, अज़ाब बनाया तूने |

मज़ाक बना दिए मेरे दिल तूने अजब,
वीरान जीवन था, एहबाब बनाया तूने |

2 thoughts on “बनाया तूने

  1. उर्दू लहजे के कारण अर्थ ज्यादा समझ में नही आया पर अल्फ़ाज़ का लुफ्त उठाया । सुन्दर अल्फाज

    Like

Thank you very much!

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s